KABIR SINGH || REAL STORY | BIOGRAPHY OF KABIR SINGH

नमस्कार दोस्तो ।

           स्वागत है आपका fact area में । आज हम बात करने जा रहे है , भारत मे बड़ी तेजी से फेल रहे एक क्रेज़ या एक दीवाना पन भी कह सकते है । जी है हम बात कर रहे है कबीर सिंघ की । को हे कबीर सिंह और क्या था उनका जीवन । पूरी सच्चाई के साथ आज हम उनका जीवन जानेगे । तो चलिए जल्द से जल्द सुरु करते है आजका टॉपिक ।







          सन 1984 में पोर्टलैंड के एक गरीब परिवार में जन्म हुआ एक बचे का जो आगे जाके पूरे भारत मे अपना नाम करने वाला था । जिसका नाम था कबीर सिंघ । स्कूल लाइफ में उन्होंने बड़ी आसानी से कई सारे दोस्त बना लिए थे । 9 साल की उम्र में ही वो भारत के कई इलाको में एक फनी बचे के रूप से जाने जाना लगा ।

        अब बात करते है कबीर सिंघ के उपर हाल ही में बनी फिल्म के बारे में ।


         कबीर सिंघ 2017 में रिलीज़ हुई एक तेलुगु फ़िल्म अर्जुन रेड्डी फ़िल्म का रिमेक है । जिसे संदीप वंगा ने निर्देशित किया था । कबीर सिंघ एक बेहत ही गुस्सेल लड़का है । जो हर दिन किसी न किसी लफड़े में उलझता रहता है । वो एक मेडिकल स्टूडेंट है ।




       अब होता है कुछ ऐसा की उसी कॉलेज में एक फर्स्ट ईयर स्टूडेंट अति है जिसका नाम प्रीति है । कबीर सिंघ को उसे देखते ही प्यार हो जाता है । अब वो कॉलेज के हर लड़के से जगद ता है कि प्रीति सिर्फ उसकी है उसके सामने कोई बी न देखे । लेकिन थोड़े दिन बाद कबीर सिंघ को mbbs की डिग्री मिल जाती है और वो मास्टर डिग्री लेने में जुट जाता है ।अब इसी दौरान प्रीति को कबीर से प्यार हो जाता है । जिसका कबीर को भी नही पता होता ।


        एक बार कबीर ओर प्रीति को प्रीति के पापा देख जाते है । और प्रीति को ले जाते है । तब कबीर प्रीति को 6 घंटे का समय देता है । कि 6 घंटे में वो उससे प्यार करती हो तो उसके पास आ जाये वार्ना कबीर हमेसा के लिए चला जायेगा । प्रीति के पापा उनको2मिलने नही देते ओर प्रीति की शादी कही और तेय कर देते है ।




      अब कबीर एक बेहत ही बेहतरीन मेडिकल स्टूडेंट मेसे एक शराबी ओर ड्रग्स लेने लगता है । आगे की स्टोरी फ़िल्म देख के ही पता चल सकती है ।

    लेकिन लेकिन लेकिन

      अब हम यहां से कबीर सिंघ की असली लाइफ के बारे में बात करे तो , पता चलता है कबीर सिंघ नशे में इतना गिर जाता है कि वो खुद को बचा नही पाता । वो बेहत ही कम उम्र में बड़ी भयंकर बीमारी का शिकार हो जाता है । प्रीति को किसी ने यह बताया तो प्रीति को लगा कि कबीर मार चुका है , ओर उसने कबीर के पहले की जीवन के बारे में जानने की कोशिश की तो कबीर के रूम ओर उसकी किताबो को पढ़ा तो पता चला की कबीर एक अविश्वसनीय रूप से इस बुद्धिसालि इंसान था । उनकी थ्योरी सब महान डॉक्टर के साथ कंपेर करी गई तो पता चला कि उनका दिमाग कई महान डॉक्टर से भी आगे था । तब प्रीति को लगा कि मेरे प्यार में कबीर की मौत हुई वार्ना आज वी कई बड़ी जगह पे होता ।




         प्रीति अब कॉन्सर्ट करती है और कबीर ओर उनकी लाइफ के बारे में बताती है । उसको तो अभीभी लगता है कि कबीर मर चुका है । लेकिन अब उसे कुदरत का करिश्मा कहे या प्यार की ताकत कबीर ज़िंदा है और वो वापस प्रीति के पास आता है ।

       इस तरह फ़िल्म के डायरेक्टर के द्वारा  एक बेहत ही बढ़िया लव स्टोरी वाली फिल्म बताई जा रही है । अब असल मे फ़िल्म केसी होगी ये तो देख के ही पता चलेगा ।


     धन्यवाद ।

Post a comment

0 Comments